करते हैं UPI PIN का इस्तेमाल, तो इन बातों का रखें ध्यान, हो सकता है फ्रॉड

 

कोरोना काल में भारत सरकार और आर-बी-आई देश में डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा दे रहे हैं। साल 2021 तक देश में डिजिटल लेन-देन चार गुना तक बढ़ने की उम्मीद है। भारत में लोग डिजिटल लेनदेन के लिए UPI यानी यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस का काफी इस्तेमाल करते हैं।

[adsforwp id=”15966″]

UPI के जरिए हर महीने करोड़ों का लेनदेन होता है। लेकिन सवाल ये है कि UPI आखिर कितना सुरक्षित है। डिजिटल लेन-देन ग्राहकों के लिए लाभदायक होने के साथ-साथ उनके लिए खतरा भी है। देश में तकनीक के बढ़ने के साथ ऑनलाइन धोखाधड़ी तेजी से बढ़ रही है।

हैकर्स आम लोगों को ठगने के लिए रोज नए-नए तरीकों का उपयोग कर रहे हैं। आए दिन साइबर क्राइम की घटनाएं सामने आ रही हैं, जिनमें लोगों के खातों से लाखों रुपये उड़ा लिए जाते हैं। इसलिए हम आपको सुरक्षित लेनदेन के लिए कुछ जरूरी बात बताने जा रहे हैं, जिनके माध्यम से आप धोखाधड़ी का शिकार होने से बच सकत हैं।

सुरक्षित एप्लिकेशन पर ही करें यूपीआई पिन का इस्तेमाल 

नुकसान पहुंचाने वाले एप्लीकेशन आपके फोन के माध्यम से आपकी निजी जानकारी का पता लगा सकते हैं। इसमें भुगतान से जुड़ी जानकारी भी शामिल है। आपको ऐसी एप्लीकेशन से बचना चाहिए। अपने UPI पिन को संभाल कर रखें क्योंकि इससे फ्रॉड हो सकता है।

सुशांत सिंह: पुलिस की जांच में बड़ा ट्विस्ट, फांसी के फंदे वाले कपड़े की मजबूती पर शक

सावधानी के लिए भीम UPI जैसे सुरक्षित एप्लिकेशन पर ही यूपीआई पिन का इस्तेमाल करें। अगर किसी वेबसाइट या फॉर्म में यूपीआई पिन डालने के लिए लिंक दिया गया हो, तो उससे बचें।

सिर्फ पैसे भेजने के लिए डालें यूपीआई पिन

लेनदेन करते समय एक बात का खास ध्यान रखें कि आपसे UPI पिन डालने के लिए सिर्फ तब ही कहा जाएगा जब आपको पैसे भेजने हों। यदि आपको कहीं से पैसे मिल रहे हैं और उसके लिए आपसे यूपीआई पिन मांगा जा रहा है, तो जान लें कि ये फ्रॉड हो सकता है।

सिर्फ ऐसे करें ग्राहक सेवा से संपर्क 

अगर आपको लेनदेन में कोई दिक्कत आ रही है और आपको ग्राहक सेवा से संपर्क करना है, तो केवल पेमेंट एप्लीकेशन का ही इस्तेमाल करें। इंटरनेट पर दिए गए ऐसे फोन नंबर पर कॉल ना करें जिसकी पुष्टि नहीं हुई हो।

BHIM App की Security में बड़ी सेंध, 7 Million यूजर्स का निजी डाटा हुआ Leak