नरगिस की शादी की खबर सुनकर रो पड़े थे राज कपूर,जाने कहानी

ये बात उस दौर की जब हिंदी सिनेमा ने अपने पंख फैलाकर उड़ना शुरू कर दिया था। अच्छी कहानियां लिखी जा रही थीं और उनको पर्दे पर निभाने वाले कलाकार जी तोड़ मेहनत कर रहे थे। नरगिस इसी दौर की कलाकार थीं। वो 28 साल की उम्र में ही एक बुजुर्ग महिला का किरदार निभाने के लिए राजी हो गई थीं।

फिल्म थी मदर इंडिया। और इसमें जो नरगिस ने अपने हुनर का जौहर दिखाया तो पूरी दुनिया में इसका डंका बज गया। इस फिल्म को 1958 में ऑस्कर के लिए भी नॉमिनेट किया गया था। पर्दे पर नरगिस ने वैसे तो कई कलाकारों के साथ काम किया लेकिन उनकी जोड़ी को लोग राज कपूर के साथ बहुत पसंद करते थे। दोनों ने साथ में 16 फिल्में कीं और नौ साल तक ये जोड़ी हिट बनी रही। आज नरगिस के जन्मदिन पर आपको बताते हैं ये अनसुनी कहानी।

राज कपूर उन दिनों टॉप क्लास अभिनेता थे और नरगिस उस वक्त की सबसे चहेती अदाकारा। उन दिनों दोनों के अफेयर के चर्चे आम हो चले थे। लगता था जैसे दोनों शादी ही कर लेंगे। लेकिन उनकी मोहब्बत शादी का रूप नहीं ले पाई और बाद में नरगिस ने राज कपूर को छोड़ सुनील दत्त से शादी रचा ली।

राज कपूर पहले से शादीशुदा थे और उनके बच्चे भी थे लेकिन बावजूद इसके वो नरगिस से कई बार शादी करने के लिए कह चुके थे। वक्त बीतता गया और फिर नौ साल बाद नरगिस को लगने लगा था कि अब राज उनकी तरफ ध्यान नहीं दे रहे। राज कपूर न तो अपनी शादी तोड़ सकते थे न ही अपने पिता से बगावत कर सकते थे। ऐसे में नरगिस ने अपने रिश्ते को तोड़ देना ही बेहतर समझा।

मधु जैन अपनी किताब ‘फर्स्ट फैमिली ऑफ इंडियन सिनेमा- द कपूर्स’ में लिखती हैं, ‘जब उन्हें पता चला कि नरगिस ने सुनील दत्त से शादी कर ली है तो राज कपूर अपने दोस्तों और साथियों के सामने फूट फूट कर रोए। राज कपूर के जीवन की ये विडंबना थी कि नरगिस से उनकी पहली मुलाकात उनकी शादी होने के सिर्फ चार महीने बाद हुई।

MUSICIAN वाजिद खान का निधन, टूट गई साजिद- वाजिद की जोड़ी

उनके धर्म भी अलग अलग थे। नरगिस ने अपना दिल, अपनी आत्मा और यहां तक कि अपना पैसा भी राज कपूर की फिल्मों में लगाना शुरू कर दिया। जब आर के स्टूडियो के पास पैसों की कमी हुई तो नरगिस ने अपने सोने के कड़े तक बेच डाले थे।’कहा तो यहां तक जाता है कि नरगिस की शादी की खबर सुनकर राज कपूर अपने आप को सिगरेट से जलाते, ये देखने के लिए कि कहीं वो सपना तो नहीं देख रहे।

नरगिस के जीवनीकार टीजेएस जॉर्ज लिखते हैं, ‘इसके बाद से ही राज कपूर ने बेइंतहा शराब पीना शुरू कर दिया। राज कपूर को हमेशा ये लगता रहा कि नरगिस ने उन्हें धोखा दिया है।’ 1986 में दिए एक इंटरव्यू में राज कपूर ने कहा था मदर इंडिया साइन करने को लेकर नरगिस ने मुझे धोखा दिया था। सालों बाद जब नरगिस दत्त का अंतिम संस्कार हुआ तो राज कपूर उनके जनाजे में आम लोगों के साथ सबसे पीछे चल रहे थे