सहारा की कंपनी के सुब्रत रॉय और दो डायरेक्टरों को ₹2,000 करोड़ जमा करने का आदेश

Subrata Roy
Subrata Roy

भारतीय प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण ने कहा कि रकम जमा करने के बाद कंपनी और उसके निदेशकों एएस राव एवं रनोज दास गुप्ता के खिलाफ कुर्की का आदेश वापस ले लिया जाएगा। दरअसल, वर्तमान अपील अक्तूबर, 2018 में पारित सेबी के एक आदेश के खिलाफ दायर की गई है।

SAT ने कहा कि पैसे जमा करने के बाद उनके खिलाफ कुर्की का आदेश वापस ले लिया जाएगा सिक्योरिटीज अपीलेट ट्राइब्यूनल (SAT) ने सहारा ग्रुप की कंपनी सहारा इंडिया कमर्शियल कॉरपोरेशन लिमिटेड (Sahara India Commercial Corporation Ltd) और सुब्रत रॉय (Subrata Roy) सहित उसके तत्कालीन निदेशकों को चार सप्ताह के भीतर मार्केट रेगुलेटर (SEBI) के पास 2,000 करोड़ रुपये जमा करने का आदेश दिया है।

SAT ने अपने आदेश में कहा कि इस रकम को सेबी के एस्क्रो खाते में रखा जाएगा। यह राशि जमा करने के बाद कंपनी और उसके पूर्व निदेशकों के खिलाफ कुर्की का आदेश वापस ले लिया जाएगा।

सैट ने कहा, “हमने पहले अपीलकर्त्ता सहारा इंडिया कमर्शियल कॉरपोरेशन और दूसरे अपीलकर्त्ता सहारा इंडिया को SEBI के पास अपनी भारत और विदेश में स्थित सभी संपत्तियों की पूरी सूची के अलावा सभी बैंक खातों, डीमैट खातों और म्यूचुअल फंड/शेयर/सिक्योरिटीज की जानकारी देने का आदेश दिया है।”

Gold Price Today in MP: शादी सीजन में सोने और चांदी के दामों में गिरावट

कंपनी के पूर्व डायरेक्टरो ए एस राव और रनोज दास गुप्ता की वृद्धावस्था और बीमारी को ध्यान में रखते हुए SAT ने उनके खिलाफ जारी कुर्की आदेशों को वापस लेने का निर्देश दिया।

भारत की होगी अपनी क्रिप्टोकरेंसी! RBI अगले साल ला सकता है इंडिया का डिजिटल करेंसी

Source link