रेडियो श्रोताओं का प्रेम

Radio

सनावद -कभी-कभी कुदरत भी कुछ ऐसे करिश्मे बताते है कि, आम आदमी का दिल भी घबराने लगता है कोरोना काल की इस महामारी के 13 -14 महीने होने आए हैं ऐसे में लोग अपने अपने घरों में सावधानी पूर्वक रह कर अपना जीवन यापन कर रहे हैं ऐसे में किसी के साथ ऐसा हादसा होना भी हम ईश्वर का ही करिश्मा मानते हैं कहते हैं कि,

हरी करें तो खरी रेडियो श्रोता विजय सोनी
जिनकी दुकान पुनासा रोड रेलवे क्रॉसिंग जिनिंग के पास है सब कुछ शॉर्ट सर्किट से रविवार को जलकर राख हो गया,चाय नाश्ता, ओल्ड रिंग पान मसाला गुटखा के छोटे व्यापारी होकर दुकान में कुछ भी नहीं बचा ऐसे में
रेडियो श्रोता का जो प्रेम एक दूसरे के प्रति होता है वह देखने में आया है।

बड़वाह सनावद के श्रोताओं ने उन्हें उनकी दुकान पर आकर सांत्वना प्रदान की इस अवसर पर प्रवीण श्रीमाली, बडवाह हुकुमचंद कटारिया अशोक वर्मा, राजकुमार बोड़ाना, शेख मूसा,हरिनिवास खेड़े,नन्दराम मनसारे,पिंटू सेन,बाबूलाल चौधरी आदि ने अपनी संवेदनाएं व्यक्त की ।

दिल्ली का पहला प्राइवेट स्कूल जिसने अपने ऑडिटोरियम को कोविड केयर सेंटर में किया तब्दील