Tata Motors के वाहन पर, कंपनी ने पेश की तीन नई फाइनेंस स्‍कीम

Tata Motors

नई दिल्ली। टाटा मोटर्स (Tata Motors) ने वैश्विक महामारी के बीच अपनी बिक्री बढ़ाने के लिए तीन नई फाइनेंस स्‍कीम को पेश किया है। इन स्‍कीमों में शामिल हैं रेड कारपेट, प्राइम विश्‍वास और लो ईएमआई स्‍कीम और सभी स्‍कीमों को परिवर्तनीय अवधि के साथ पेश किया गया है।

इन फाइनेंस स्‍कीमों को शहरी और ग्रामीण दोनों उपभोक्‍ताओं को ध्‍यान में रखकर पेश किया गया है। इन स्‍कीमों का लाभ वेतनभोगी कर्मचारी, स्‍व-रोजगार करने वाले और बिना आय प्रमाणपत्र वाले उपभोक्‍ता उठा सकते हैं।

रेड कारपेट स्‍कीम इनकम प्रूफ वाले उपभोक्‍ताओं के लिए है और उन्‍हें वाहन के ऑन-रोड प्राइस का 90 प्रतिशत तक ऋण उपलब्‍ध कराया जाएगा। ऋण चुकाने के लिए उपभोक्‍ताओं को 7 साल तक की अवधि प्रदान की जाएगी और 11 लाख रुपये तक के ऋण के लिए उपभोक्‍ताओं को एफओआईआर (FOIR) भी नहीं देना होगा।

प्राइव विश्‍वास स्‍कीम ऐसे उपभोक्‍ताओं के लिए है, जिनके पास इनकम प्रूफ नहीं है। इसके तहत उन्‍हें वाहन के एक्‍स-शोरूम प्राइस के 90 प्रतिशत तक के बराबर ऋण उपलब्‍ध कराया जाएगा। इस स्‍कीम में ऋण चुकाने की अवधि अधिक‍तम पांच साल है। ऋण के लिए उपभोक्‍ता की पात्रता कृषि जमीन या संपत्ति के आधार पर तय की जाएगी।

लो ईएमआई स्‍कीम वेतनभोगी कर्मचारी और स्‍व-रोजगार करने वाले उपभोक्‍ताओं दोनों के लिए है। इसके तहत उपभोक्‍ताओं पर बोझ करने के लिए पहले 3 माह के लिए 50 प्रतिशत निम्‍न ईएमआई (999 रुपये प्रति लाख) की पेशकश की जाती है।

यदि तूफान में आपकी कार या बाइक हो गई है डैमेज तो जानें कैसे करें Insurance क्‍लेम

इसके अलावा, वाहन के ऑन-रोड मूल्‍य के 80 प्रतिशत के बराबर ऋण उपलब्‍ध कराया जाता है। टाटा मोटर्स ने ग्राहक, डीलर्स और सप्‍लायर्स के हितों की रक्षा के लिए एक व्‍यापक बिजनेस एजिलिटी प्‍लान भी बनाया है।

टाटा मोटर्स (Tata Motors) के सीईओ पद से हटेंगे बुश्चेक

टाटा मोटर्स (Tata Motors) ने बुधवार को कहा कि गुएंटेर बुश्चेक कंपनी के प्रबंध निदेशक और सीईओ पद से 30 जून को हट जाएंगे। हालांकि वह इस साल के अंत तक कंपनी के सलाहकार के रूप में काम करते रहेंगे।

Income Tax Return भरने के लिए अब नहीं देना होगा बैंक या एलआइसी का स्टेटमेंट

कंपनी के अनुसार उसने गिरीश वाघ को पदोन्नत कर कार्यकारी निदेशक बनाया है। यह एक जुलाई से प्रभाव में आएगा। वाघ फिलहाल कंपनी के वाणिज्यिक वाहन परिचालन को देख रहे हैं।

टाटा मोटर्स ने देर रात के एक बयान में कहा कि बुश्चेक 30 जून, 2021 से सीईओ और प्रबंध निदेशक पद से हट जाएंगे। उन्होंने व्यक्तिगत कारणों से अनुबंध के समाप्त होने पर जर्मनी जाने की अपनी इच्छा के बारे में कंपनी को जानकारी दी थी।

कितनी भी खराब हो सड़क, कार के ये 4 फीचर्स ड्राइवर को नहीं होने देते हैं थकान

टाटा मोटर्स के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने कहा कि मैं पिछले पांच साल में टाटा मोटर्स का सफलतापूर्वक नेतृत्व करने और भविष्य के लिए एक मजबूत नींव रखने के लिए गुएंटर को धन्यवाद देना चाहूंगा। मैं कंपनी के सलाहकार के रूप में उनके सुझाव को लेकर उत्सुक हूं।