मंत्री के पैर पर लोटकर रोने लगी चयनित शिक्षिका, तीन साल से कर रही है नियुक्ति का इंतजार

 

एमपी में तीन साल से नियुक्ति के इंतजार में बैठे हैं चयनित शिक्षक (MP Selected Teacher) । बैतूल में स्कूली शिक्षा मंत्री के पैर पर गिरकर रोने लगी चयनित शिक्षिका ने कहा, तीन साल से कर रहीं हूं नियुक्ति का इंतजार। विरोध को देखते हुए मंत्री इंदर सिंह परमार ने दिया नियुक्ति का भरोसा

बैतूल
एमपी के बैतूल में एक चयनित शिक्षिका स्कूली शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार के पैरों (MP Selected Teacher Rolling On Minister Feet) पर लोट गई। इसके बाद वह नियुक्ति को लेकर फूट-फूट कर रोने लगी। अचानक चयनित शिक्षकों के पैरों पर गिरने से अफरा तफरी का माहौल बन गया। मंत्री ने झुककर उसे उठाने की कोशिश की। उनके साथ लगे सुरक्षाकर्मियों ने चयनित शिक्षिका को उठाया और उसे समझाने की कोशिश की कि जल्दी उसकी नियुक्ति हो जाएगी।

MP Selected Teacher

दरअसल, अननोत्सव कार्यक्रम में शामिल होने आए स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार के पैरों पर गिरकर रो रही महिला का नाम शारदा जावलकर है। शारदा का तीन साल पहले शिक्षक भर्ती के लिए चयन हुआ था, लेकिन तीन साल बाद भी शारदा को नियुक्ति नहीं मिली है। इसकी वजह से शरदा व्यथित थी और अपनी गुहार लेकर स्कूली शिक्षा मंत्री के पास पहुंची थी।

जैसे ही मंत्री बाहर जाने लगे शारदा उनके पैरों में गिर गई और फूट-फूट कर रोने लगी। शारदा बोल रही थी कि हमें नियुक्ति दिला दें। शारदा को उठाया गया और अधिकारियों सहित पुलिस ने उसे समझाने की कोशिश की।

Horoscope: कुंडली में ग्रह कमजोर होने पर मिलने लगते हैं ये संकेत, बदल जाती है ये आदते

दरअसल, शारदा अकेली नहीं है, बैतूल जिले में उच्च माध्यमिक के 350 और माध्यमिक के 120 शिक्षकों का तीन साल पहले चयन हुआ था और नियुक्ति के लिए तीन साल से भटक रहे हैं। चयनित शिक्षकों (MP Selected Teacher) का कहना है कि अगस्त 2019 में उनका रिजल्ट आया था और जुलाई से वेरिफिकेशन का कार्य शुरू हुआ था। कोरोना काल के कारण वेरिफिकेशन का कार्य रूक गया और अभी तक नहीं हुआ है। नियुक्ति के लिए पिछले तीन साल से भटक रहे हैं, लेकिन कहीं सुनवाई नहीं हो रही है, सिर्फ आश्वासन मिल रहे हैं।

पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने कहा, बालिग युगल को लिव इन में रहने का अधिकार

वहीं, चयनित शिक्षकों (MP Selected Teacher) के पैरों पर गिरने और रोने के मामले को लेकर स्कूली शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा कि शिक्षक भर्ती का कार्यक्रम चल रहा है, कोर्ट का एक विषय है। उससे बचते हुए हम शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया करने वाले हैं, वेरिफिकेशन हो गया है, जल्दी सबको नियुक्ति देने वाले हैं।

Source link