Selfie With Crocodile: मगरमच्छ को रस्सी से बांधकर मस्ती करने लगे लोग, ली सेल्फी

Madhya Pradesh News Update
Madhya Pradesh News Update: शिवपुरी में बाढ़ का साइड इफेक्ट्स देखने को मिल रहा।बाढ़ की वजह से इंसानी बस्तियों में घुस गया था मगरमच्छ।मगरमच्छ को रस्सी से बांधकर लोगों ने कंधे पर रख लिया।मगरमच्छ को कंधे पर रखकर लोग ले रहे थे सेल्फी, वीडियो वायरल।

शिवपुरी
एमपी (Madhya Pradesh News Update) के शिवपुरी जिले से एक अजीबोगरीब तस्वीर सामने आई है। बाढ़ प्रभावित शिवपुरी के एक गांव में मगरमच्छ घुस गया था। विशालकाय मगरमच्छ को लोगों ने रस्सी से बांध दिया और कंधे पर रखकर उसके साथ सेल्फी (Selfie With Crocodile News) लेने लगे। सोशल मीडिया पर अब इनका वीडियो वायरल है। सेल्फी लेने के बाद ये लोग बेरहमी से मगरमच्छ को जमीन पर पटक देते हैं।

मगरमच्छ पास के साख्य सागर झील से गांव में पहुंच गया था। बुधवार से सोशल मीडिया पर इसका वीडियो वायरल है। पानी में डूबी सड़कों पर मगरमच्छ तैर रहा था। रस्सियों के सहारे लोग उसे खींच रहे थे। साथ ही सेल्फी के लिए लोग बेताब दिख रहे थे।

उज्जैन में खड़े ट्रॉले में घुसी कार, चार की मौत, गुस्साए ग्रामीणों ने बरसाए पत्थर

स्थानीय लोगों का एक ग्रुप 10 फीट लंबे मगरमच्छ को कंधे पर उठाता है, फिर उसके साथ जयकारे के साथ लोग सेल्फी लेते हैं और जमीन पर पटक देते हैं। वहीं, मगरमच्छ इसके बाद दूर जाने की कोशिश करता है, लेकिन उसके मुंह और दूसरे अंग बंधे हुए थे। वहीं, कुछ लोग मगरमच्छ को लाठी और डंडे से ठेलते हैं।

इलाके में मगरमच्छ के निकलने से लोग डरे हुए हैं। लोग बाढ़ की वजह से छतों और ऊंची जमीन पर चले गए हैं। कई लोग रतजगा कर रहे हैं।

शादी से इंकार करने पर महिला का काट दिया था सिर, पाकिस्तान में महिलाओं का हाल-बेहाल

वहीं, हालिया जनगणना के अनुसार साख्य सागर झील में 100 मगरमच्छ रहते हैं। उफनती चंबल नदी, पास के माधव राष्ट्रीय उद्यान से होकर बहती है, यहां लगभग 500 लोगों का घर है। ऐसे में इंसानी बस्तियों में मगरमच्छ आए दिन प्रवेश कर जाते हैं। बारिश की वजह से चंबल नदी उफान पर है और झील में पानी भर गया है। ऐसे में मगरमच्छ बाहर निकल जा रहे हैं।

Horoscope: कुंडली में ग्रह कमजोर होने पर मिलने लगते हैं ये संकेत, बदल जाती है ये आदते

वन विभाग के अधिकारियों ने अभी तक सड़क से पांच मगरमच्छों को बचाया है। विभाग की तरफ से कहा गया है कि जब पानी कम होगा तो और भी मगरमच्छ देखे जाएंगे। ऐसे में लोगों को सावधान रहने की जरूरत है।

इन इलाकों में वन विभाग ने अधिकारियों और कर्मियों के नंबर प्रसारित किए हैं, जिन्हें कॉल करने पर वन्य जीवों का रेस्क्यू करने आ सकते हैं। वहीं, अधिकारियों को कड़ी निगरानी के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही वायरल वीडियो को देखने के लिए कहा गया है। दलदली मगरमच्छ कमजोर प्रजाति के होते हैं।

महिला और भांजी ने तांत्रिक पर लगाया धर्म परिवर्तन और सालों तक रेप करने आरोप, FIR दर्ज

Source link