Breaking News

पेगासस मामले में कमलनाथ बोले, 15 दिन में होंगे और बड़े खुलासे, सरकार से पूछे कई सवाल

हाइलाइट्स

  • एमपी के पूर्व सीएम कमलनाथ ने केंद्र की मोदी सरकार पर बोला बड़ा हमला
  • कमलनाथ ने कहा कि सरकार फ्रांस मामले की जांच करवाए
  • उन्होंने कहा कि सरकार के हाथ साफ हैं तो बताने में क्या दिक्कत
  • कमलनाथ ने कहा कि पेगासास सिर्फ सरकार को सॉफ्टवेयर बेचती है

भोपाल
पेगासस मामले में एमपी के पूर्व सीएम कमलनाथ (Kamalnath Reaction On Pegasus Spyware Case) ने केंद्र की सरकार पर बड़ा हमला किया है। कमलनाथ ने आज पेगासस केस में मीडिया से बात की है। उन्होंने कहा है कि इस मामले में 15 दिन के अंदर और भी बड़े खुलासे होंगे।

पेगासस जासूसी केस में कमलनाथ ने पीएम मोदी को टारगेट किया है। कमलनाथ ने कहा कि पेगासस मामले में अगले पंद्रह दिन में और उजागर होगा। ये हमारी गोपनीयता पर हमला है। फ्रांस ने जांच शुरू कर दी है, हमारे देश में जांच क्यों नहीं।

वहीं, कमलनाथ ने आरोप लगाया कि भारत सरकार ने पेगासस (Pegasus) का लाइसेंस लिया। उन्होंने कहा कि इसे राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खरीदा गया या मोदी की सुरक्षा के लिए खरीदा गया। यदि सरकार साफ है तो बोले हमने लाइसेंस नहीं लिया लेकिन सरकार गोलमोल जवाब क्यों दे रही है। कमलनाथ ने कहा कि यह कंपनी केवल सरकारों को लाइसेंस बेचती है।

सिंधिया घराने की अकूत संपत्ति,अंबानी-अडानी, कई राज्यों के बजट से ज्यादा है महाराज की दौलत!

कमलनाथ ने कहा कि भारत सरकार ने पेगासस सॉफ्टवेयर को नहीं, उसका लाइसेंस खरीदा है। कमलनाथ ने पूछा है कि क्या यह राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खरीदा गया था या मोदी जी की सुरक्षा के लिए। कमलनाथ ने यह भी तंज कसा है कि क्या राष्ट्रीय सुरक्षा का मतलब है मोदी सुरक्षा। कमलनाथ ने कहा कि सरकार के हाथ साफ हैं तो कोर्ट में एफेडेविट दें कि हमने नहीं खरीदी है।

पूर्व सीएम ने कहा कि पेगासस से ये सब कुछ रेकॉर्ड कर रहे हैं। ये टेलीकॉम कंपनियों ने सारी चीजें नहीं ले सकते हैं। पेगासस की एक खूबी है कि ये पूरे फोन में घुस जाती है। कमलनाथ ने कहा कि सिर्फ पेगासस नहीं, दूसरे कंपनियों के भी सॉफ्टवेयर खरीदे हैं। विदेशी अखबारों पर सरकार केस करे कि आप हमें अपमानित कर रहे हैं।

कमलनाथ ने कहा कि सरकार सुप्रीम कोर्ट में एफेडेविट देकर कहे कि हमने पेगासस (Pegasus)  के लाइसेंस नहीं लिए हैं। कमलनाथ ने कहा कि ये हमारी कहानी नहीं है। ये फ्रांस की स्टोरी है। पूर्व सीएम ने कहा कि रविशंकर प्रसाद 2019 में इसे खरीदने की बात खारिज कर चुके हैं। कांग्रेस ने बहुत पहले ही इस मामले को उठाया था। कमलनाथ ने कहा कि पीएम मोदी 2017 में इजरायल गए थे। इसके बाद से ही जासूसी शुरू हुई है।

मैं एमपी छोड़कर नहीं जाऊंगा
वहीं, कांग्रेस में बड़ी जिम्मेदारी दिए जाने की चर्चा है। साथ ही कहा जा रहा है कि वह एमपी छोड़कर जाएंगे। कमलनाथ इस पर कहा कि मैं एमपी छोड़कर नहीं जाऊंगा। पार्टी की तरफ से जो जिम्मेदारी मिलेगी, मैं उसको निभाऊंगा। पार्टी के पुनर्गठन पर सोचा जा रहा है।

pjimage - 2021-07-21T162642.306

Source link