जेसिका लाल हत्याकांड में दोषी मनु शर्मा जेल से रिहा, अच्छे व्यवहार के चलते रिहाई

जेसिका लाल हत्याकांड में दोषी मनु शर्मा को कल दिल्ली के तिहाड़ जेल से रिहा किया जाएगा। अच्छे व्यवहार के चलते मनु शर्मा को समय से पहले रिहा करने का फैसला लिया गया है। मनु शर्मा को 17 साल की कैद के बाद रिहा किया जाएगा।

इससे पहले 13 मई को जेसिका लाल हत्याकांड के दोषी सिद्धार्थ वशिष्ठ उर्फ मनु शर्मा को तिहाड़ जेल से मुक्त करने का फैसला लिया था। जिसके बाद केवल उपराज्यपाल को इस पर अंतिम मुहर लगानी थी। दिल्ली के गृहमंत्री सत्येंद्र जैन की अध्यक्षता में हुई सजा समीक्षा बोर्ड की बैठक में इसकी सिफारिश की गई थी।

मनु शर्मा को जेल से रिहा करने की अपील पांच बार पहले भी कमेटी के सामने की गई थी,  लेकिन खारिज कर दी गईं। नई अपील आने से पहले तिहाड़ जेल प्रशासन, दिल्ली पुलिस और जेसिका लाल के परिजनों की ओर से भी कहा गया था कि मनु शर्मा को जेल से छोड़ने में कोई आपत्ति नहीं है।

हर 10 लाख की आबादी पर चार लोगों की कोरोना से मौत, यहां मिले सबसे ज्यादा मरीज

जेसिका लाल हत्याकांड

मशहूर मॉडल जेसिका लाल की 29 अप्रैल 1999 की रात दिल्ली के टैमरिंड कोर्ट रेस्टोरेंट में गोली मारकर केवल इसलिए हत्या कर दी गई थी, क्योंकि  उन्होंने शराब परोसने से मना कर दिया था। गोली चलाने वाला व्यक्ति कद्दावर कांग्रेसी नेता विनोद शर्मा का बेटा मनु शर्मा था। सात साल तक चले इस मुकदमे के बाद फरवरी 2006  में सभी आरोपियों को बरी कर दिया गया था।

लेकिन, जेसिका की बहन ने चुप्पी न साधते हुए मामले को मीडिया के माध्यम से जनता के सामने रखा। उसके बाद तो जेसिका लाल मर्डर केस में इंसाफ के लिए देश भर में चिंगारी सी भड़क गई। केस दोबारा खुला और फास्ट ट्रैक कोर्ट में लगातार 25 दिनों तक मामले की सुनावई चली। इसके बाद दोषी मनु शर्मा को उम्रकैद की सजा सुनाई गई।