Breaking News

Gold Price Today: भारतीय बाजारों में सोने की कीमतों में गिरावट का सिलसिला जारी

Gold Price

नई दिल्ली. भारतीय बाजारों में सोने की कीमतों (Gold Price Today) में गिरावट का सिलसिला जारी है. एमसीएक्स पर सोना (Gold price on MCX) वायदा लगभग 0.25% गिरकर 47,510 रुपये पर आ गया, जबकि चांदी वायदा 0.22% बढ़कर 67,520 रुपये प्रति किलोग्राम हो गया. कमजोर वैश्विक रुख के बीच पांच सत्रों में सोने की कीमतों में लगभग 1,000 की गिरावट आई है.

जानकारों का कहना है कि MCX पर सोने के दाम (Gold Price) 46,850 से 48,400 के बीच रहेगा. मजबूत अमेरिकी डॉलर के बीच वैश्विक बाजारों में आज सोने की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई. हाजिर सोना 0.2% की गिरावट के साथ 1,803.33 डॉलर प्रति औंस पर था. पिछले पांच दिनों में यानी इस सप्ताह अब तक कीमती धातु लगभग 0.4% नीचे है.

जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट?

विश्लेषकों का मानना है कि निकट भविष्य में सोना सीमित दायरे में बना रहेगा, वजह मुद्रास्फीति कीमतों के प्रमुख कारक हैं. अगले हफ्ते होने वाली फेड की नीति बैठक के नतीजों पर सोने के कारोबारियों की नजर होगी. कमोडिटी एक्सपर्ट की मानें तो जुलाई के बाद सोना महंगा होगा, ऐसे में निवेश के लिहाज से आपको मोटा रिटर्न मिलेगा, लेकिन खरीदारी आपको महंगा पड़ेगा.

48,500 रुपये पर पहुंचेगा सोना
एक्सपर्ट बताते हैं कि कीमती धातु की कीमत में गिरावट अस्थायी है और सोने के निवेशकों को इस गिरावट को खरीदारी के अवसर के रूप में देखना चाहिए. सर्राफा विशेषज्ञों के मुताबिक, सोने की कीमत जल्द ही पलट जाएगी और ट्रेंड रिवर्सल के बाद एक महीने में ₹48,500 प्रति 10 ग्राम तक पहुंच जाएगी.

सोने ने दिया 28 फीसदी का रिटर्न
अगर सोने की निवेश की बात करें तो पिछले साल सोने ने 28 फीसदी का रिटर्न दिया है. उससे पिछले साल भी सोने का रिटर्न करीब 25 फीसदी रहा था. अगर आप लॉन्ग टर्म के लिए निवेश कर रहे हैं तो सोना अभी भी निवेश के लिए बेहद सुरक्षित और अच्छा विकल्प है,

जिसमें शानदार रिटर्न मिलता है. जानकारों के मुताबिक आने वाले दिनों में सोने की कीमत में तेजी आएगी, ऐसे में ये आपके पास निवेश का अच्छा मौका है.

Guru Purnima पर अपने गुरु का पूजन करे इस विधि से,राशि अनुसार दे सकते हैं ये उपहार

जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट?
विश्लेषकों का मानना है कि निकट भविष्य में सोना सीमित दायरे में बना रहेगा, वजह मुद्रास्फीति कीमतों के प्रमुख कारक हैं. अगले हफ्ते होने वाली फेड की नीति बैठक के नतीजों पर सोने के कारोबारियों की नजर होगी. कमोडिटी एक्सपर्ट की मानें तो जुलाई के बाद सोना महंगा होगा, ऐसे में निवेश के लिहाज से आपको मोटा रिटर्न मिलेगा, लेकिन खरीदारी आपको महंगा पड़ेगा.