Digvijay Singh News: ‘आ रहा हूं आपके घर, हिम्मत हो तो मेरे घुटने तोड़ देना’, रामेश्वर शर्मा के बयान पर अब दिग्विजय ने दी चुनौती

Digvijay Singh-Rameshwar sharma
हाइलाइट्स
  • दिग्विजय (Digvijay Singh) ने जवाब और रामेश्वर शर्मा के बीच जारी है बयानबाजी
  • दिग्विजय ने शर्मा को दी उनके घुटने तोड़ने की चुनौती
  • दो दिन पहले शर्मा ने एक सभा में लोगों से कहा था- कांग्रेसियों के घुटने तोड़ दो
  • दिग्विजय की चुनौती के बाद भी चुप नहीं हुए शर्मा, पूछा कितने लोगों के साथ आएंगे

भोपाल। मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के विधायक रामेश्वर शर्मा के कांग्रेसियों के ‘‘घुटने तोड़ने’’ वाले बयान पर अब पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने जवाब दिया है। दिग्विजय ने कहा है कि वे 24 नवंबर को सर्मा के घर जाएंगे और एक घंटे तक रामधुन गाएंगे। शर्मा की हिम्मत हो तो उनके घुटने तोड़ दें।

दिग्विजय सिंह ने शनिवार को शर्मा का वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट किया, ‘‘मैं कांग्रेसी हूं, जिसमें ताकत हो तो मेरे घुटने तोड़ दे। मैं गांधीवादी हूं। हिंसा का जवाब अहिंसा से दूंगा। 24 नवंबर को मैं महात्मा गांधी की मूर्ति से रामेश्वर शर्मा के घर जाऊंगा। उनके घर जाकर प्रभु से उन्हें सद्बुद्धि देने के लिए एक घंटे तक रामधुन का जाप करूंगा।’’

दो दिन पहले रामेश्वर शर्मा का एक कथित वीडियो वायरल हुआ था जिसमें उन्होंने दिग्विजय का नाम लेते हुए कांग्रेसियों को भला-बुरा कहा था। भोपाल के कलखेड़ा इलाके में एक सभा में उन्होंने कहा था कि दिग्विजय सिंह छाती पीटकर गया। आठ महीने पहले वो आए, लेकिन कुछ करके गए क्या?

विधायक ने आगे कहा कि थोड़ी शांति रखो, किसी मकान को टूटने नहीं देंगे। शर्मा ने यह भी कहा था कि क्षेत्र में कोई कांग्रेस का आदमी आए तो उसके घुटने तोड़ दो।

DSP से युवक की गुहार, मुझे मेरी बीवी वापस दिला दो..बीबी बोली- मैंने कर ली दूसरी शादी, प्रेग्नेंट हूं

दिग्विजय की इस चुनौती के बाद रामेश्वर शर्मा ने फिर से उन पर निशाना साधा है। शर्मा ने तंज कसते हुए कहा कि मैं तो धन्य हो गया क्योंकि आर मेरे चलते प्रभु श्रीराम का ध्यान करेंगे। उन्होंने दिग्विजय को श्रीरामचरितमानस भेंट करने की बात कही है। साथ ही यह भी पूछा है कि आप कितने लोगों के साथ आएंगे, यह भी बता दें ताकि वे सबके लिए अल्पाहार की व्यवस्था कर सकें।

Three Agricultural Laws Retern: वापस होंगे तीनों कृषि कानून, जानें कैसे रद्द होंगे

Source link