भारत को 3 ओलंपिक स्वर्ण दिलवाने वाले बलबीर सिंह सीनियर का 95 की उम्र में निधन

तीन ओलंपिक स्वर्ण पदक और विश्व कप जितवाने वाले बलबीर सिंह सीनियर नहीं रहे. 95 साल की उम्र में मोहाली के एक अस्पताल में निधन…

  • साल 1948 में हुए लंदन ओलंपिक्स के फ़ाइनल मैच में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ गोल मारने के बाद बलबीर सिंह

जब 1948 में भारत और इंग्लैंड के बीच लंदन के वेम्बली स्टेडियम में हॉकी का फ़ाइनल शुरू हुआ तो सारे दर्शकों ने एक सुर में चिल्लाना शुरू किया, “कम ऑन ब्रिटेन, कम ऑन ब्रिटेन!”

धीरे-धीरे हो रही बारिश से मैदान गीला और रपटीला हो चला था. नतीजा ये हुआ कि किशन लाल और केडी सिंह बाबू दोनों अपने जूते उतार कर नंगे पांव खेलने लगे.

पहले हाफ़ में ही दोनों के दिए पास पर बलबीर सिंह ने टॉप ऑफ़ डी से शॉट लगा कर भारत को 2-0 से आगे कर दिया,

खेल ख़त्म होने के समय स्कोर था 4-0 और स्वर्ण पदक भारत का था. जैसे ही फ़ाइनल विसिल बजी ब्रिटेन में भारत के तत्कालीन उच्चायुक्त कृष्ण मेनन दौड़ते हुए मैदान में घुसे और भारतीय खिलाड़ियों से गले मिलने लगे.

बाद में उन्होंने भारतीय हॉकी टीम के लिए इंडिया हाउज़ में स्वागत समारोह किया जिसमें लंदन के जाने-माने खेल प्रेमियों को आमंत्रित किया गया।